Seeing mentally afflicted minor alone in the house, brother committed cruelty on the pretext of laddu, accused arrested under POSCO Act | शिवपुरी में 13 साल की दिव्यांग को लड्‌डू का लालच देकर रेप, जिम्मेदारी सौंप कर अस्पताल गई थी मां, आरोपी गिरफ्तार


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Shivpuri
  • Seeing Mentally Afflicted Minor Alone In The House, Brother Committed Cruelty On The Pretext Of Laddu, Accused Arrested Under POSCO Act

शिवपुरी8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
13 साल की दिव्यांग बहन से रेप। - Dainik Bhaskar

13 साल की दिव्यांग बहन से रेप।

रक्षाबंधन से ठीक पहले शिवपुरी से रिश्तों को शर्मसार करने वाली खबर सामने आई है। शिवपुरी के नरवर थाना क्षेत्र में बुधवार को एक चचेरे भाई ने अपनी 13 साल की मानसिक और शारीरिक रूप से दिव्यांग बहन के साथ हैवानियत को अंजाम दिया है। भाई को बहन की देखभाल की जिम्मेदारी देकर बच्ची की मां बेटे के इलाज के लिए अस्पताल गई थी। बहन को घर में अकेला देख चचेरे भाई ने घटना को अंजाम दे दिया। भाई ने बहन को इतना डरा दिया था कि वो अपने साथ हुई हैवानियत के बारे में अपनी मां तक को नहीं बता सकी।

पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज

बच्ची को डरा सहमा देख मां ने उससे पूछा तो उसने सारी बातें बताई। जिसके बाद मां ने पुलिस ने शिकायत की। पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

शादीशुदा और दो बेटियों का पिता है आरोपी
पीड़िता की मां के अनुसार चचेरा भाई शादी-शुदा है और उसकी दो छोटी बेटियां भी हैं। मां ने बताया कि 9 अगस्त को जब उसके छोटे बेटे को चोट लगी थी, तब वह अपने पास ही रहने वाले अपने जेठ के घर अपनी 13 साल की मानसिक और शारीरिक रूप से दिव्यांग बेटी को उसके 25 साल के भाई और भाभी के भरोसे छोड़ कर बेटे का इलाज कराने चली गई थी। इसी दौरान पीड़िता की भाभी खुद की बेटी और पीड़िता की जिम्मेदारी आरोपी को सौंपकर खेत पर चली गई। जब पीड़िता आरोपी की बेटी के साथ खेल रही थी। तभी आरोपी ने पीड़िता को लड्डू देने के बहाने अपने पास बुलाया और उसे अपनी हवस का शिकार बना लिया। इस दौरान आरोपी की खुद की बेटी वहां रोती-बिलखती रही लेकिन उसे एक बार भी मासूम पीड़िता पर दया नहीं आई।

आरोपी ने पीड़िता को इतना भयभीत कर दिया कि वह अपना दर्द किसी के सामने बयां नहीं कर सकी। पीड़िता की मां का कहना है कि जब उसने बच्ची को उदास देखा तो उसे किसी अनहोनी की आशंका हुई। ऐसे में उसे अपनी मानसिक रूप से दिव्यांग बेटी को विश्वास में लेने और उसकी पीड़ा समझने में दो दिन लग गए। 11 अगस्त को जब पीड़िता ने बताया कि उसके साथ उसके ही भाई ने दुष्कर्म किया है। जिसके बाद मां अपनी बेटी के साथ थाने पहुंची, लेकिन थाने में महिला पुलिस नहीं होने के कारण उन्होंने अगले दिन यानी की 12 अगस्त को थाने में महिला पुलिस ने FIR दर्ज करवाई। पीड़िता की हालत खराब है। इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है।

पुलिस गिरफ्त में आरोपी
नरवर थाने के TI मनीष शर्मा ने बताया कि हमने पीड़िता के परिजनों की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपी घटना के बाद से फरार था। शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*