Outrage over the death of a shepherd in Rewa district | मारपीट में घायल युवक ने 1 माह बाद तोड़ा दम, मुआवजे की मांग को लेकर थाने के सामने शव रखकर प्रदर्शन, आरोपी को पुलिस ने पकड़ा


रीवाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • गढ़ थाना अंतर्गत बरहट गांव का मामला, प्रयागराज में ली थी अंतिम सांस

रीवा जिले के गढ़ थाना अंतर्गत बरहट में एक माह पहले मारपीट में घायल चरवाहे ने दम तोड़ दिया है। मौत के बाद प्रयागराज से शव लेकर लौटे परिजन आक्रोशित हो गए। वे आरोपी की गिरफ्तारी व आर्थिक मदद की मांग करते हुए थाना के सामने शव रखकर प्रदर्शन करने गले।

हालांकि परिजनों के आक्रोश को देखते हुए आनन फानन में एसडीओपी संतोष निगम मौके पर पहुंचे। साथ ही तत्काल टीम गठित कर आरोपी को कांकर गांव से गिरफ्तार कर लिया है। तब कहीं जाकर परिजन शव घर ले जाने पर राजी हुए है।

मिली जानकारी के मुताबिक गढ़ थाना क्षेत्र के बरहट ग्राम निवासी केदार पाल (48) के साथ 11 जुलाई को मारपीट हुई थी। दावा है कि वह उस समय भेड़ चरा कर लौट रहा था। इसी दौरान कांकर निवासी रामचन्द्र सिंह गहरवार ने वहां पहुंच गाली-गलौज शुरू कर दी। आरोपी ने कहा कि यहां भेड़ क्यों लाए हो। इस बात पर कहासुनी हुई और आरोपी ने राड से पिटाई शुरू कर दी। जिससे केदार को गंभीर चोट आई।

रीवा में इलाज के बाद प्रयागराज में तोड़ा दम
बताया गया कि पुलिस को सूचना देकर घायल केदार को पहले नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद संजय गांधी स्मृति चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था। जहां लगभग 15 दिनों तक उसका उपचार चला रहा।

एसजीएमएच से छुट्टी मिलने पर केदार को परिजन घर ले गए। लेकिन घर पहुंचते ही उसकी तबियत अचाकन बिगड़ी और उसे इलाज के लिये प्रयागराज ले जाया गया। बताते हैं कि 11 अगस्त को आपरेशन किया गया। जहां 13 अगस्त की दोपहर मौत हो गई।

शाम से लेकर रात तक चला प्रदर्शन
पुलिस ने बताया कि शाम को प्रयागराज से शव लेकर आए परिजन गढ़ थाना के सामने प्रदर्शन शुरू कर दिए। परिजनों की मांग थी कि आरोपी को गिरफ्तार किया जाय। इसके साथ ही इलाज में खर्च हुए 3 लाख रुपये शासन द्वारा दिलाई जाय।

शुक्रवार की रात 8 बजे तक चले बवाल के बाद मनगवां एसडीओपी संतोष निगम मौके पर पहुंच गए। इसके बाद टीम गठित कर आरोपी को पकड़ने कांकर गांव भेजी। जहां से आरोपी को गिरफ्तार कर थाने लाया गया है। फिर भी रात 9 बजे तक आर्थिक मदद की मांग को लेकर मृतक के परिजन थाने के बाहर डटे रहे।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*