With the help of Bhamashah, the school staff developed 300 saplings, found an opportunity in the disaster of Corona | भामाशाह के सहयोग से स्कूल स्टाफ ने 300 पौधे लगा विकसित की वाटिका, कोरोना की आपदा में ढूंढा अवसर


नागौर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सुखवासी स्कूल परिसर में तैयार की वाटिका। - Dainik Bhaskar

सुखवासी स्कूल परिसर में तैयार की वाटिका।

राजकीय माध्यमिक विद्यालय सुखवासी में दानदाताओं के सहयोग से विद्यालय परिसर में वाटिका तैयार की है। विद्यालय स्टाफ ने पहल कर वाटिका को विकसित किया है। वाटिका में करीब 300 पौधे लगाए जा चुके है। विद्यालय के प्रधानाध्यापिका कमला सारण ने बताया कि कोरोना काल में समय का सदुपयोग करते हुए दानदाताओं के सहयोग से विद्यालय में वाटिका निर्माण का काम पिछले दो माह से प्रगति पर है।

वाटिका निर्माण को लेकर विद्यालय स्टाफ अग्रणी भूमिका निभा रहा है। उन्होंने बताया कि वाटिका विकसित करने में गांव के भामाशाहों से विशेष सहयोग मिला। जिससे प्रेरित होकर विद्यालय परिसर में वाटिका निर्माण किया गया। अब भी सहयोग के लिए भामाशाह बढ़-चढ़कर भाग ले रहे है।

वाटिका निर्माण यह निभा रहे भूमिका

विद्यालय परिसर में वाटिका निर्माण को लेकर गांव के निवासी पद्मश्री हिम्मताराम भांभू की प्रेरणा से प्रेरित होकर यह कार्य किया जा रहा है। वरिष्ठ अध्यापक हरेंद्र तांडी, बहादुर राम खिलेरी, गिरीश कुमार वैष्णव, ओमप्रकाश खिलेरी, कैलाश बसवाणा, सोना राम सेन ने मुख्य भूमिका निभा रहे है।

इसी क्रम में गांव के भामाशाह मोहन राम भांभू, रामदेव राम भांभू, रूगा राम खिलेरी, रेवंत सिंह राठौड़, केशाराम खिलेरी, कुंभाराम खिलेरी (पूर्व सरपंच), जोगाराम भांभू, मूलाराम भांभू, सोहन राम खिलेरी (वार्ड मेंबर) व अनोपाराम सिंवर सहयोग की भूमिका निभा रहे है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*