Mukhjaar Abbas Naqvi spoke in Prayagraj; Scramble with marshals in Parliament shames democratic values | बोले- संसद में मार्शलों से हाथापाई लोकतांत्रिक मूल्यों को शर्मसार करने वाली, मोदी से नहीं लड़ पाए तो मार्शल से भिड़ गए


प्रयागराज5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
प्रयागराज एयरपोर्ट पर पत्रकारों से वार्ता करते केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी। - Dainik Bhaskar

प्रयागराज एयरपोर्ट पर पत्रकारों से वार्ता करते केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी।

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने संसद में मार्शलों के बीच हुई हाथापाई की घटना को लोकतांत्रिक मूल्यों और परंपराओं के खिलाफ बताया है। उन्होंने कहा कि देखिए मोदी जी को बदनाम करने की, जो सनक है वह लोकतंत्र को बदनाम करने की साजिश का परिणाम है। मोदी जी से लड़ते-लड़ते जब थक गए तो मार्शल से भिड़ गए।

गुनहगारों ने अपने आपको क्रांतिकारी के रूप में पेश किया
संसद में जिस तरह की तोड़फोड़, हाथापाई व हिंसा हुई वह लोकतांत्रिक मूल्यों को शर्मसार करने वाली है। सबसे दुख की बात यह है कि इन सारी घटनाओं के बाद जो गुनाहगार हैं, जिनके पास गुनाहों व पाप की गठरी है वह सारे के सारे लोग सड़कों पर क्रांतिकारी की तरह अपने आप को प्रदर्शित कर रहे थे। ऐस मार्च निकाला जैसे उन्होंने देशहित में कोई बहुत बड़ा काम कर दिया हो।

हमारी मांग है कि जिन भी लोगों ने इस तरह की हरकत की है उनके खिलाफ कड़े से कड़े कानूनों के तहत कार्रवाई हो। अगर कानूनी प्रावधान नहीं है तो प्रावधान बनाने की जरूरत है, ताकि कोई और इस तरह की हरकत करके लोकतंत्र के मंदिर को शर्मसार ना कर सके।

राहुल गांधी को भूलने की बीमारी है
देखिए राहुल गांधी जी की प्रॉब्लम क्या है कि सुबह क्या सुनते हैं शाम को भी भूल जाते हैं। उनको भूलने की बीमारी है। जब ऊपरी महले की प्रॉब्लम होती है तो भूलने की बीमारी हो ही जाती है। मुख्तार ने कहा कि मगर मुझे अफसोस उन तमाम वरिष्ठ लोगों के ऊपर है, जोकि संसद में सालों से रहे हैं और जो उनका आचरण रहा है वह संसदीय मर्यादाओं के अनुकूल रहा है। वह भी कहीं ना कहीं इस सामंती सियासत के शिकंजे में फंसते जा रहे हैं।

मुख्तार अब्बास नकवी ने प्रयागराज में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा भी किया।

मुख्तार अब्बास नकवी ने प्रयागराज में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा भी किया।

ट्विटर पर इतना हो-हल्ला क्यों?
कांग्रेस व राहुल गांधी के टि्वटर हैंडल को ब्लॉक किए जाने के सवाल पर नकवी ने कहा कि जब भाजपा के नेताओं का, केंद्रीय मंत्रियों के ट्विटर हैंडल बंद हुए थे तो राहुल गांधी ने कुछ नहीं बोला। अब क्या हो गया। अब ट्विटर के बारे में क्यों हाहाकार और हल्ला मच रहा है। न हम ट्विटर पर पक्ष में हैं और न ही विपक्ष में, मगर राहुल गांधी क्या कर रहे थे वह खुद तय करें।

बिना जमीन के जमीदारी और सियासी सोच के चौधराहट नहीं चलती
मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि बिना जमीन के जमीदारी और बिना सियासी सोच के चौधराहट नहीं चलती। विपक्ष ने क्या राहुल गांधी को अपना सर्वमान्य पीएम पद का नेता चुन लिया है इस सवाल पर उन्होंने कहा कि आधे दर्जन से ज्यादा प्राइमिनिस्टर इन वेटिंग में हैं। ऐसे में पहले लोग यह तय कर लें कि उनका नेता कौन है। नकवी ने आगे कहा कि मोदी जी के बारे में दुष्प्रचार करिए, लड़ाई लड़िए पर देश की संसदीय परंपराओं को मर्यादाओं को शर्मसार न करिए।

नकवी ने प्रयागराज में बाढ़ क्षेत्र का दौरा भी किया
अपने पैतृक गांव प्रतापपुर ब्लॉक के भदारी जाने से पहले केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने प्रयागराज में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा भी किया। वह चांदपुर सलोरी, छोटा बघाड़ा, संगम क्षेत्र, नैनी, अरैल क्षेत्र व करेली के कुछ क्षेत्रों में गए और बाढ़ राहत कार्यों का जयजा लिया। अपने ट्विटर हैंडल पर उन्होंने कुछ तस्वीरें साझा करते हुए प्रदेश की योगी आदित्यानाथ सरकार द्वारा बाढ़ से निपटने को लेकर उठाए गए कदमों की तारीफ की। कहा कि योगी सरकार ने बाढ़ से निपटने में बेहतर काम किया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*