‘Miss India Awardee’ Varsha Dongre announced organ donation, 200 deaf and dumb people from across the country also pledged to donate | ‘मिस इंडिया अवार्डी’ वर्षा डोंगरे ने की अंगदान घोषणा, देशभर के 200 मूक-बधिरों ने भी लिया अंगदान का संकल्प


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • ‘Miss India Awardee’ Varsha Dongre Announced Organ Donation, 200 Deaf And Dumb People From Across The Country Also Pledged To Donate

इंदौर16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हाल में आगरा में आयोजित सामान्य प्रतियोगियों की ‘स्टार लाइन मिस इंडिया कांटेस्ट’ में एक हजार के बीच िमस इंडिया का अवार्ड हासिल करने वाली इंदौर की मूक-बधिर छात्रा वर्षा डोंगरे ने अब मानव सेवा में अपना जज्बा दिखाया है। ‘विश्व अंगदान दिवस’ के मौके पर आयोजित एक वेबिनार में उसने मृत्य पश्चात अंगदान देने की घोषणा की है। खास बात यह कि वर्षा के साथ देशभर के 200 मूक-बधिरों ने भी मृत्यु पश्चात अंगदान देने की शपथ ली है। वर्षा ने शुक्रवार को विधिवत अंगदान फॉर्म भी भर दिया जबकि 200 मूक-बधिर शपथ के बाद अपने-अपने राज्यों में इस दस्तावेजी प्रक्रिया को पूरा करेंगे। देशभर में यह पहला मौका है किसी दिव्यांग मिस इंडिया अवार्डी सहित 200 मूक बधिरों ने अंगदान का संकल्प लेकर इस तरह का जज्बा दिखाया है। वर्षा कहना है कि भले ही मैं मूक-बधिर हूं लेकिन मेरी मौत के बाद मेरी किडनी, आंखें व अन्य अंग किसी के काम आ सके, इससे बड़ी दौलत मेरे लिए और कुछ नहीं हो सकती।

वेबिनार में देशभर के 200 मूक-बधिरों ने अंगदान का संकल्प लिया। सर्कल में वर्षा डोंगरे।

वेबिनार में देशभर के 200 मूक-बधिरों ने अंगदान का संकल्प लिया। सर्कल में वर्षा डोंगरे।

दरअसल, 13 अगस्त को ‘विश्व अंगदान दिवस’ पर अंग प्रत्यारोपण से जुड़े मोहन फाउण्डेशन, रोटरी क्लब ऑफ आदर्श, आनंद सर्विस सोसायटी (इंदौर) व पहल फाउण्डेशन द्वारा एक वेबिनार का आयोजन किया गया। इसमें देशभर के मूक-बधिर संगठनों को आमंत्रित किया गया था। इनमें इंदौर की आनंद सर्विस सोसायटी भी थी। वेबिनार में मूक-बधिरों के हितों, उपलब्धियों और उनकी बेहतरी को लेकर एक्सपर्टस ने अपनी बातें रखी। वेबिनार में इंदौर से ‘मिस इंडिया अवार्डी’ वर्षा डोंगरे भी थी। इसमें साइन लैंग्वेज एक्सपर्टस ने अपनी बातें कही और फिर मूक-बधिर छात्र-छात्राओं को अपनी बात रखने का मौका दिया गया। इस दौरान वर्षा अंगदान की घोषणा की और फॉर्म भी भरकर दिया।इस मौके पर वेबिनार के अतिथि डॉ. जिम्मी गुप्ता (चेन्नई) व डॉ. हेमंत अत्रे (फरीदाबाद) ने वर्षा के इस जज्बे को सलाम किया और अंगदान से जुड़ी भ्रांतियों को दूर किया। वेबिनार में कर्नल महेेंद्र मिश्रा (डिस्ट्रिक्ट गवर्नर, रोटरी क्लब ऑफ आदर्श), मैथ्यू अब्राहिम (अंगदान समिति के अध्यक्ष), हातिम अनंत (अध्यक्ष, रोटरी क्लब ऑफ इंदौर), टॉम जार्ज (रोटरी दिव्यांग समिति के चेयरमेन) आदि भी उपस्थित थे। इन लोगों ने भी वर्षा के इस निर्णय को सराहा। इस दौरान वेबिनार में देशभर के सैकड़ों मूक-बधिर शामिल थे। वर्षा के इस जज्बे को देख वे भी प्रोत्साहित हुए और करीब 200 मूक-बधिरों ने सांकेतिक भाषा में मृत्यु पश्चात अंगदान की घोषणा की। खास बात यह कि इसमें महाराष्ट्र के महाराष्ट्र के 110 मूक-बधिर हैं। संस्था आनंद सर्विस सोसायटी के डायरेक्टर ज्ञानेंद्र पुरोहित ने बताया कि इसके पूर्व कहीं भी मूक-बधिरों द्वारा अंगदान के मामले नहीं हुए हैं। कुछ समय पहले इंदौर के सुरेंद्र मोरे नामक एक मूक-बधिर की मृत्यु के बाद उनकी इच्छानुसार उनकी आंखें दान की गई थी। जल्द ही मूक-बधिरों का एक ब्लड डोनेशन कैम्प फरीदाबाद व रोटरी क्लब ऑफ आदर्श द्वारा गुड़गांव में आयोजित किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*