Medal for Excellence in Vegetation: Story of Satna Inspector Animesh Dwivedi | रेपिस्ट को तिहरे आजीवन कारावास की सजा दिलाने वाले TI को अवॉर्ड, 3 दिन में विवेचना पूरी कर चालान प्रस्तुत होने के 14वें दिन दिलाई थी सजा


रीवा5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • दो साल पहले चोरहटा थाना क्षेत्र में हुआ था मासूम के साथ बलात्कार

रीवा जिले में 10 नवंबर की सुबह नेशनल हाईवे से लगे ए​क ढाबा में कार्य करने वाले श्रमिक ने दो वर्ष की मासूम के साथ रेप कर सनसनी फैला दी। इसी मामले की तीन दिन में विवेचना पूरी कर 14वें दिन आरोपी को तिहरे आजीवन कारावास की सजा दिलाने वाले तत्कालीन चोरहटा थाना प्रभारी निरीक्षक अनिमेष द्विवेदी को केंद्रीय गृह मंत्री मेडल से नवाजा गया है।

वर्तमान समय में वे सतना जिले के रामपुर बाघेलान थाने में तैनात है। विंध्य क्षेत्र से मेडल फॉर एक्सीलेंस इंवेस्टिगेशन के ​लिए चयनित होने पर पुलिस विभाग के अधिकारियों ने हर्ष व्यक्त किया है।

तिहरे आजीवन कारावास का आरोपी।

तिहरे आजीवन कारावास का आरोपी।

दैनिक भास्कर से बातचीत में निरीक्षक अनिमेष द्विवेदी ने बताया कि घटना वाले दिन दो वर्ष की मासूम के साथ रेप हुआ था। मैं उस समय चोरहटा थाने का प्रभारी था। सूचना के बाद आनन फानन में मौके पर पहुंचा। तो मासूम को दुलारते हुए उसके बाबा के सामने आरोपी की पहचान कराई। हालांकि आरोपी का पीड़िता के घर से लगा ढाबा था। ऐसे में आरोपी की पहचान करना कोई नई बात नहीं थी। फिर भी पीड़िता ने आरोपी की ओर इशारा किया था। साथ कुछ ही घंटे में आरोपी को गिरफ्तार कर चोरहटा थाना के अपराध क्रमांक 518/19 धारा 376 (ए-बी) एवं 5/6 पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज कर दूसरे दिन जेल भेज दिया गया था।

न्यायालय के आदेश पर वारदात स्थल पर आरोपी को ले जाकर रिसीन कराया गया। जहां फिर से पीड़िता ने आरोपी की पहचान कर ली। इसके बाद जेल के अंदर ले जाकर रिसीन कराया गया था। वहां भी पीड़िता ने आरोपी की ओर इशारा किया था। कोर्ट ने 2 वर्षीय मासूम के साथ रेप के मामले को जघन्य अपराध मानते हुए तीन दिन के भीतर चालान प्रस्तुत कराते हुए 14वें दिन आरोपी को सजा सुनाई। 26 नवंबर 2019 को आरोपी शीतला प्रसाद दुबे को तिहरे आजीवन कारावास से ​दंडित किया गया था।

आर्मी कलर वाली टी शर्ट में अनिमेष द्विवेदी।

आर्मी कलर वाली टी शर्ट में अनिमेष द्विवेदी।

मिल चुका है आउट आफ टर्न प्रमोशन
बता दें कि विंध्य क्षेत्र में निरीक्षक अनिमेष द्विवेदी को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से जाने जाते है। वे सतना, रीवा के अलावा नक्सल प्रभावित क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे चुके है। ​पुलिस विभाग में अनिमेष द्विवेदी के खाते में अब तक 22 एनकाउंटर दर्ज है। वह सतना जिले के 5 लाख के इनामी डकैत सुंदर पटेल उर्फ रागिया को एनकांउटर में मार गिराया था। इसके बाद उनको पुलिस विभाग ने आउट आफ टर्न प्रमोशन देकर सम्मानित किया था।

मध्य प्रदेश से इन पुलिस अधिकारियों का चयन
गौरतलब है कि बीते दिन केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा मध्य प्रदेश के 11 पुलिस अधिकारियों को मेडल फॉर एक्सीलेंस इंवेस्टिगेशन (जांच में उत्कृष्टता) के लिए चयनित किया है। जिसमे उमेश प्रताप सिंह इंस्पेक्टर, आलोक श्रीवास्तव इंस्पेक्टर, अनिमेष कुमार द्विवेदी इंस्पेक्टर, आकांक्षा साहरे एसआइ, सुनील लता इंस्पेक्टर, जितेंद्र सिंह भास्कर इंस्पेक्टर, आरती धुर्वे एसआइ, रेवल सिंह बर्डे इंस्पेक्टर, रामप्यारी धुर्वे एसआइ, अंजू शर्मा एसआइ, अभय नेमा इंस्पेक्टर का नाम शामिल है। वहीं देशभर में 152 पुलिस अधिकारियों का नाम शामिल है। जिनमें से 28 महिला पुलिस अधिकारी भी हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*