Fields dug under the Jawar-Sihara lift irrigation scheme in Khandwa, CM said on the question of MLA – leveled the fields; Bhaskar Investigation – The fields are lying | खंडवा में उद्वहन सिंचाई योजना के कारण बोवनी से वंचित रहे किसान, सरकार ने कहा थाखेतों को कर दिया था समतल; हकीकत- अभी तक खुदे पड़े हैं खेत


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Fields Dug Under The Jawar Sihara Lift Irrigation Scheme In Khandwa, CM Said On The Question Of MLA Leveled The Fields; Bhaskar Investigation The Fields Are Lying

खंडवा2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
सिंचाई योजना में पाइपलाइन खोदने के बाद नहीं किया खेतों को समतल - Dainik Bhaskar

सिंचाई योजना में पाइपलाइन खोदने के बाद नहीं किया खेतों को समतल

मध्यप्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान जावर-सिहाड़ा उद्वहन सिंचाई योजना को लेकर MLA देवेंद्र वर्मा ने सवाल रखा। बताया कि, निर्माण कंपनी ने खेत खोद दिए है, जिससे किसान खरीफ सीजन की बोवनी नही कर पाएं। सवाल के जवाब में सरकार ने कहा – बोवनी से पहले खेतों को समतल कर दिया गया है। लेकिन भास्कर ने मौके पर जाकर पाया कि खेत खुदे हुए है, सिंचाई योजना के पाइप और ब्लास्टिंग का मलबा खेतों में पड़ा है। इधर, अफसर निर्माण कंपनी की गलती बता रहे है।

खंडवा MLA देवेंद्र वर्मा ने जावर-सिहाड़ा उद्वहन सिंचाई योजना की स्वीकृति, कार्यादेशानुसार लागत एवं समय-सीमा को लेकर विधानसभा के मानसून सत्र में प्रश्न किया। कहा कि खेत खुदे होने से किसान अत्यंत परेशान है। क्या दोषी अधिकारी-कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी। जवाब में सरकार ने कहा, कोरोनाकाल के चलते एजेंसी काम पूरा नहीं कर पाई। इसलिए कार्य पूर्ण करने के लिए 30 जून 2022 तक का समय बढ़ा दिया गया है। एजेंसी द्वारा खरीफ सीजन के पूर्व जिन खेतों में पाइपलाइन बिछाई गई है, उन्हें पूर्व की स्थिति में समतल कर दिया गया है। जबकि इधर, हकीकत कुछ ओर बयां कर रही है।

खेतों में पड़ा है ब्लास्टिंग का मलबा।

खेतों में पड़ा है ब्लास्टिंग का मलबा।

– खेत में बिखरे पड़े हैं ब्लास्टिंग से निकले पत्थर

जावर-सिहाड़ा उद्‌वहन सिंचाई योजना अंतर्गत ठेकेदार ने मार्च 2020 में जावर व आसपास के कुछ गांवों में पाइप लाइन डालने के लिए नाली खुदाई कर दी लेकिन 14 माह बीतने के बाद भी पाइप नहीं डाले गए हैं। जावर के किसान भगवानसिंह सांवले ने बताया ठेकेदार ने खुदाई करते समय 15 दिन में पाइप डालकर खेत बराबर करने की बात कही थी। ठेकेदार द्वारा खुदाई के लिए जगह-जगह ब्लास्टिंग कराई जा रही है। इससे निकले पत्थर खेतों में बिखरे पड़े हैं किसानों को स्वयं के खर्च पर मजदूर लगाकर पत्थर एकत्रित कराना पड़ रहा है।

– ऐसा है तो एजेंसी पर कार्रवाई करेंगे

विधानसभा प्रश्न के जवाब में विभाग से रिपोर्ट मांगी गई थी। हमने निर्माण एजेंसी को अवगत कराया, जिसने अपनी रिपोर्ट में खेतों का समतल किया जाना बताया था। यदि ऐसा नहीं है तो हम निर्माण एजेंसी के अफसरों पर कार्रवाई करेंगे। – एसपी तिरकी, ईई, एनवीडीए

( रिपोर्ट – सावन राजपूत, फोटो & कंटेंट – शुभम जायसवाल)

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*