Agra Electricity Department JE Arrested: Anti Corruption Team Arrested Electricity Department JE for Taking bribery in Agra | 2.72 लाख का बिजली बिल कम करने के लिए लेखपाल से मांगे थे 50 हजार रुपए, शिकायत पर एंटी करप्शन ने दबोचा; 7 साल में 14 रिश्वतखोर पकडे़ गए


आगरा:एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
एंटी करप्शन द्वारा जेई गगन गुप्ता को 50 हजार रुपए रिश्वत लेते पकड़ा गया है। - Dainik Bhaskar

एंटी करप्शन द्वारा जेई गगन गुप्ता को 50 हजार रुपए रिश्वत लेते पकड़ा गया है।

आगरा में एंटी करप्शन टीम ने दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम (DVVNL)के जूनियर इंजीनियर को 50 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि जूनियर इंजीनियर ने लेखपाल से गलत बिल कम करने के लिए रिश्वत की मांग की थी। पीड़ित ने इसकी शिकायत एंटी करप्शन से की। जांच के बाद शुक्रवार को एंटी करप्शन की टीम ने कार्रवाई की।

गलत बिल संशोधित करने के लिए मांग रहा था रिश्वत
बरौली अहीर निवासी नेम सिंह लेखपाल हैं। उन्होंने बताया कि विद्युत विभाग ने उनके ऊपर 2.72 लाख रुपए बिजली का बिल बताया, जो कि सही नहीं था। ऐसे में वो विद्युत उप केंद्र के जेई गगन कुमार गुप्ता से 9 अगस्त को मिले। उनसे बिल सही कराने के लिए कहा। आरोप है कि इस पर जेई गगन कुमार गुप्ता ने उनसे 1 लाख रुपए रिश्वत मांगी। साथ ही उन्हें बिजली चोरी में जेल जाने का डर दिखाया। जेई ने रिश्वत देने पर ही बिल सकी करने की बात कही। बाद में जेई 50 हजार रुपए में काम करने को तैयार हो गया।

रिश्वत देने के बजाए सबक सिखाने का लिया फैसला
लेखपाल नेम सिंह ने बताया बिल कम करने के नाम पर वसूली करने वाले जेई को उन्होंने रिश्वत देने के बजाए सबक सिखाने का निर्णय लिया। इसके लिए उन्होंने एंटी करप्शन विभाग में 2 दिन पहले शिकायत की। विभाग को जेई द्वारा मांगी जा रही रिश्चत की रिकार्डिंग सुनाई। जिसके बाद एंटी करप्शन की टीम ने उसे पकड़ने के लिए जाल बिछाया। जेई गगन कुमार गुप्ता ने उससे 25 हजार रुपए शुक्रवार को काम होने से पहले आकर देने की कहा। बाकी बजे रुपए बिल संशोधन के बाद देना तय हुआ था। एंटी करप्शन टीम ने लेखपाल को रिश्चत के नोट हस्ताक्षर करके दिए थे। शुक्रवार को करीब 3:30 बजे वह रुपए लेकर बरौली अहीर विद्युत उप केंद्र पहुंचे। वहां जेई गगन कुमार को रिश्वत देते ही बाहर मौजूद एंटी करप्शन की टीम ने जेई को दबोच लिया। उसे पकड़कर ताजगंज थाने ले आई। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। एंटी करप्शन के SP राजीव मल्होत्रा ने बताया कि विद्युत विभाग के जेई को नेम कुमार से 25 हजार रुपए रिश्चत लेते हुए गिरफ्तार किया है। उसे शनिवार को मेरठ कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा।

7 साल में 14वीं गिरफ्तारी
एंटी करप्शन ने पिछले 7 साल में आगरा में रिश्वत लेते 14 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें सबसे ज्यादा शिक्षा विभाग के अधिकारी शामिल हैं। सबसे पहले 2014 में बेसिक शिक्षा विभाग का वित्त एवं लेखाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई हुई थी।

अब तक ये हुए रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार

  • राकेश चंद्र मौर्य, वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा विभाग – अक्टूबर 2014
  • आरएस प्रजापति, कार्यालय अधीक्षक पेंशन – अगस्त 2015
  • तेजबहादुर यादव, सहायक चकबंदी अधिकारी एत्मादपुर- सितंबर 2015
  • उत्तम सिंह, एबीआरसी बिल बाबू, फतेहाबाद – अक्टूबर 2016
  • भूप सिंह मौर्य, एबीआरसी फतेहाबाद – दिसंबर 2016
  • पूनम चौधरी, खंड शिक्षाधिकारी शमसाबाद- फरवरी 2017
  • कन्हैया लाल सारस्वत, वित्त लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा विभाग – मई 2017
  • सोबरन सिंह, एबीआरसी बिल बाबू शमसाबाद – जुलाई 2018
  • देव प्रकाश एबीआरसी बिल बाबू, शमसाबाद – सितंबर 2018
  • प्रबल दुबे, बिल बाबू अछनेरा – अक्टूबर 2019
  • हरिओम दुबे, एबीआरसी बरौली अहीर- नवंबर 2019
  • राहुल गुप्ता, बिल बाबू फतेहाबाद- जनवरी 2020
  • जितेंद्र शर्मा, एआरपी बरौली अहीर- फरवरी 2021
  • गगन कुमार गुप्ता, जेई विद्य़त विभाग बरौली अहीर- अगस्त 2021

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*