Will work in collaboration with Yamuna Mission organization in Mathura for purification, will build a green path from Yamunotri to Prayagraj | मथुरा में यमुना मिशन संस्था के साथ मिलकर करेंगे शुद्धिकरण को लेकर कार्य , यमुनोत्री से प्रयागराज तक बनाएंगे हरित मार्ग


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Mathura
  • Will Work In Collaboration With Yamuna Mission Organization In Mathura For Purification, Will Build A Green Path From Yamunotri To Prayagraj

मथुरा26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
मथुरा में यमुना शुद्धिकरण का मिशन लेकर काम कर रही सामाजिक संस्था यमुना मिशन के साथ मिलकर देश के प्रसिद्ध 5 सन्त करेंगे यमुना को शुद्ध करने का प्रयास - Dainik Bhaskar

मथुरा में यमुना शुद्धिकरण का मिशन लेकर काम कर रही सामाजिक संस्था यमुना मिशन के साथ मिलकर देश के प्रसिद्ध 5 सन्त करेंगे यमुना को शुद्ध करने का प्रयास

प्रदूषण की मार झेल रही यमुना को बचाने के लिये अब साधु संत आगे आये हैं । मथुरा में यमुना शुद्धिकरण का मिशन लेकर काम कर रही सामाजिक संस्था यमुना मिशन के साथ मिलकर देश के प्रसिद्ध 5 सन्त काम करेंगे । सन्तों का प्रयास हैं कि यमुनोत्री से लेकर प्रयागराज तक हरित मार्ग बनाया जाय ।

यमुना मिशन को मिलेगा भारत के पांच संतों का संरक्षकत्व

भारत के पांच प्रमुख संतों का अब यमुना मिशन को संरक्षकत्व मिलेगा। सात सदस्ययीय संतों की यमुना मिशन कार्यकारिणी समिति भी संरक्षक मंडल के संरक्षकत्व में कार्य करेगी। गुरुवार को वृंदावन के कृष्णकृपा धाम में आयोजित यमुना मिशन की बैठक में गीता मनीषी संत ज्ञानानंद महाराज ने बताया कि यमुना मिशन के नव गठित संरक्षक मंडल में महामंडलेश्वर कार्ष्णि स्वामी गुरुशरणानंद महाराज , गौ-ऋषि स्वामी श्रीदत्त शरणानंद महाराज , जगद्गुरु मलूकपीठाधीश्वर राजेंद्र दास देवाचार्य महाराज, गीता मनीषी ज्ञानानंद महाराज और बाबा सियारामदास महाराज शामिल होंगे।पूर्व में गठित हुई यमुना मिशन की सात सदस्यीय संतों की “यमुना मिशन कार्यकारिणी समिति” भी संरक्षक मंडल के संरक्षकत्व में कार्य करेगी। संत ज्ञानानंद महाराज ने बताया कि सात सदस्यीय कार्यकारिणी की अवधि दो वर्ष है, इसके बाद आवश्यकतानुसार सदस्यों का मनोनयन होगा। उन्होंने कहा कि संतों के मार्गदर्शन से ही ब्रज एवं समस्त देश के कल्याण का मार्ग प्रशस्त होगा। ब्रज की पुरातन आभा को प्रकृति संरक्षण के माध्यम से स्थापित किया जाएगा।

यमुना मिशन कर रहा मथुरा से वृन्दावन तक यमुना किनारे वृक्षारोपण

सामाजिक संस्था यमुना मिशन यमुना को शुद्ध करने के लिए पिछले 6 साल से ज्यादा समय से प्रयास कर रही हैं । इसके लिए यमुना मिशन से जुड़े लोग मथुरा से वृन्दावन तक यमुना किनारे वृक्षारोपण किया जा रहा हैं । अभी तक यमुना मिशन डेढ़ लाख पौधे लगा चुका हैं । इसके साथ ही 4 स्थानों पर यमुना आरती भी की जाती हैं ।

सन्तों का प्रयास निर्मल , अबिरल हो यमुना

सन्तों के निर्देशन में यमुना मिशन जल्द यमुनोत्री से प्रयागराज तक हरित मार्ग बनाया जाएगा । इसके लिए मथुरा वृन्दावन की तर्ज पर यमुना किनारे वृक्षारोपण किया जायेगा । जिससे यमुना शुद्धिकरण की पहल हो सके । इस अवसर पर गोपेश कृष्णदास , हरदेवानंदजी, महंत श्रीरामदास जी महाराज, सूरश्याम गोशाला के देवेंद्र शर्मा के साथ यमुना मिशन के संस्थापक प्रदीप बंसल उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*