Thousands of cash, purse mobiles flew away, treatment of injured admitted in CHC continues, at 11 pm, miscreants dared one km away from home | नकदी, पर्स मोबाइल ले उड़े बदमाश, सीएचसी में भर्ती घायल का उपचार जारी, घर से एक किमी दूर बाइक सवार बदमाशों ने किया हमला


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Thousands Of Cash, Purse Mobiles Flew Away, Treatment Of Injured Admitted In CHC Continues, At 11 Pm, Miscreants Dared One Km Away From Home

बांसवाड़ाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
परिजनों के साथ घायल नाथूलाल। - Dainik Bhaskar

परिजनों के साथ घायल नाथूलाल।

दोवड़ा (डूंगरपुर) थाना क्षेत्र के गातोड़ मंदिर के सामने बुधवार रात को 3 लुटेरों ने एक बुजुर्ग के सिर पर तब तक ताबड़तोड़ वार किए, जब तक कि वह अधमरा होकर जमीन पर नहीं गिर गया। वारदात में उपयोग में ली गई हॉकी भी तीन टुकड़े होकर बिखर गई। इसके बाद लुटेरे वाड़ा गांव निवासी नाथूलाल (55) के पास से करीब साढ़े 5 हजार की नकदी, पर्स, मोबाइल, एटीएम, पैन और भामाशाह कार्ड छीनकर चले गए। जैसे-तैसे लहूलुहान बुजुर्ग उसके घर पहुंचा। नाथूलाल को उसके परिजन दामड़ी सीएचसी ले गए जहां उसका उपचार चल रहा है।

दरअसल, बुधवार रात को हथाई गांव में एक सत्संग कार्यक्रम था। पेशे से रसोइया नाथूलाल सत्संग में भोजन बनाने गए थे। नाथूलाल रात करीब 11 बजे घर लौट रहे थे। तभी घर से करीब एक किलोमीटर पहले गातोड़जी मंदिर के पास तीन रास्ते पर एक दुपहिया नाथूलाल की बाइक के सामने आ खड़ा हुआ।

आते ही बदमाशों ने सबसे पहले नाथूलाल की बाइक पर हॉकी मारी और लाइट फोड़ दी फिर बुजुर्ग के सिर पर कई वार किए। नाथूलाल दुपहिया छोड़कर जमीन पर गिर गए। नाथूलाल जोर से चिल्लाने लगे तो बदमाशों ने उनका मुंह दबा दिया। इसके बाद बदमाशों ने नाथूलाल से लूट की। देर रात होश आने पर नाथूलाल लहूलुहान हालत में घर पहुंचे।

डूंगरपुर का दोवड़ा थाना।

डूंगरपुर का दोवड़ा थाना।

पूरा गांव गया एफआईआर दर्ज कराने
ग्रामीणों की मानें तो हथाई और वाड़ा गांव की दूरी महज डेढ़ किलोमीटर है। आज से पहले इस गांव में इस तरह की कोई घटना नहीं हुई। यह पहला मौका था। इस तरह के अपराध को लेकर ग्रामीणों ने नाराजगी जताई। साथ ही गुरुवार सुबह गांव के सभी लोगों ने एक साथ थाने पर जाकर मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई। पीड़ित नाथूलाल के बेटे महेंद्र कुमार ने बताया कि मौके से उन्होंने टूटी हुई हॉकी के तीन टुकड़े कब्जे में लिए हैं। फिलहाल वह उनके पिता का उपचार करा रहे हैं।

इनपुट : गजेंद्र कुमार उपाध्याय (गणेशपुर)

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*