The team took stock of the damage, the villagers of Girdharpura demanded the settlement of the village at another place, the elder said – for the first time in life, saw such a burning, everything was destroyed in a single night kota rajasthan | टीम ने नुकसान का जायजा लिया, गिरधरपुरा के ग्रामीणों ने गांव को दूसरे स्थान पर बसाने की मांग रखी, बुजुर्ग बोले- जीवन मे पहली बार देखा ऐसा जलजला, एक ही रात में सब कुछ हुआ तबाह


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • The Team Took Stock Of The Damage, The Villagers Of Girdharpura Demanded The Settlement Of The Village At Another Place, The Elder Said For The First Time In Life, Saw Such A Burning, Everything Was Destroyed In A Single Night Kota Rajasthan

कोटा14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
प्रशासनिक अधिकारियों के साथ केंद्रीय टीम ने प्रभावित गांवों का दौरा किया और नुकसान का जायजा लिया। - Dainik Bhaskar

प्रशासनिक अधिकारियों के साथ केंद्रीय टीम ने प्रभावित गांवों का दौरा किया और नुकसान का जायजा लिया।

जिले में अतिव्रष्टि व बाढ़ के बाद हालातों का जायजा लेने केंद्रीय टीम कोटा पहुंची। प्रशासनिक अधिकारियों के साथ केंद्रीय टीम ने प्रभावित गांवों का दौरा किया और नुकसान का जायजा लिया। दौरे के दौरान केंद्रीय टीम ने भी विशेष पैकेज की जरूरत बताई। गिरधरपुरा के ग्रामीणों ने टीम को अपनी पीड़ा बताते हुए गांव को दूसरे स्थान पर बसाने की मांग रखी। गांव के बुजुर्गों ने कहा कि जीवन मे पहली बार ऐसा जलजला देखा है। गांव में एक ही रात में सब कुछ तबाह हो गया। अब पड़ोसी गांव व सरकार के भरोसे खाना मिल रहा है। मकान, फसल,कपड़े, राशन सामग्री तब नष्ट हो चुकी है।

गिरधरपुरा के ग्रामीणों ने टीम को अपनी पीड़ा बताते हुए गांव को दूसरे स्थान पर बसाने की मांग रखी।

गिरधरपुरा के ग्रामीणों ने टीम को अपनी पीड़ा बताते हुए गांव को दूसरे स्थान पर बसाने की मांग रखी।

टीम ने बोरदा, सन्मानपुरा में भी पहुंचकर हालात जाने और मकानों की स्थिति को देखा।उनके साथ सभागीय आयुक्त केसी मीना, कलेक्टर उज्ज्वल राठौड़, इटावा एसडीएम रामावतार बरनाला, जिला परिषद सीओ, कृषि विभाग, पीडब्ल्यूडी, सीएडी सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*