The accused had generated 10,000 IDs by hacking the website of the Election Commission of India, Delhi’s investigative agency will interrogate, 60 lakhs will be found from the accused’s account | भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट हैक कर आरोपी ने की थी 10 हजार ID जनरेट, दिल्ली की जांच एजेंसी करेंगी पूछताछ,आरोपी के खाते से मिल 60 लाख


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Saharanpur
  • The Accused Had Generated 10,000 IDs By Hacking The Website Of The Election Commission Of India, Delhi’s Investigative Agency Will Interrogate, 60 Lakhs Will Be Found From The Accused’s Account

सहारनपुर25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
आरोपी विपुल सैनी। - Dainik Bhaskar

आरोपी विपुल सैनी।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के एक युवक ने मध्य प्रदेश के रहने वाले अपने एक दोस्त की मदद से भारत निर्वाचल आयोग की साइट को हैक कर लिया। युवक ने अपने दोस्त के साथ मिलकर 10,000 वोटरों की आईडी कार्ड भी बना डाले। साइबर सेल की टीम ने गुरुवार की देर शाम को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी युवक के खाते से 60 रुपये भी मिले हैं। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया। इस गिरफ्तार के बाद पूरे देश की एजेंसियां अलर्ट हो गई है। तीन माह से वेबसाइट में घुसपैठ कर रहा था आरोपी सहारनपुर की साइबर सेल ने थाना नकुड़ क्षेत्र के मच्छराखेड़ी निवासी विपुल सैनी को गिरफ्तार किया है। साइबर सेल के मुताबिक पूछताछ में आरोपी ने बताया कि मध्यम प्रदेश के रहने वाले अपने एक दोस्त अरमान मलिक के कहने पर उसने भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट को हैक कर वोटर आईडी कार्ड बनाए हैं। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह पिछले तीन माह से भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट में घुसपैठ कर रहा था। साइबर सेल का दावा है कि इसने 10 हजार वोटर आईडी कार्ड बनाए है। मध्य प्रदेश से मिलता था टास्क साइबर सेल द्वारा की गई पूछताछ में आरोपी विपुल ने बताया कि उसे मध्य प्रदेश से टास्क मिलता था। एक दिन में जितने भी वोटर कार्ड बनाता था। वह रात के समय मध्य प्रदेश अरमान मलिक को भेजता था। वोटर लिस्ट के हिसाब से उसके खाते में पैसा ट्रांसफर होता था। देश की कई बड़ी एजेंसियां भी जांच में जुट गई हैं। दिल्ली की जांच एजेंसी करेगी पूछताछ साइबर सेल के अधिकारियों ने बताया कि अब दिल्ली की जांच एजेंसी कोर्ट से अनुमति लेकर आरोपी विपुल से पूछताछ करेगी। ऐसा माना जा रहा है कि पूरे मामले में देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त लोगों का हाथ हो सकता है। दिल्ली की जांच एजेंसियां अब आरोपी को पूछताछ के लिए अपने साथ दिल्ली ले जा सकती है। पुलिस ने रात में ही खुलवाया बैंक साइबर सेल ने आरोपी की गिरफ्तारी के बाद उसके बैंक खातों की जानकारी लेने के लिए रात में ही बैंक को खुलवाया है। आरोपी के खाते में तीन माह में 60 लाख रुपये आए है। पुलिस पता लगा रही है कि पैसा किन-किन स्थानों से आरोपी के खातों से आए है। SSP डॉ.एस चनप्पा ने बताया कि साइबर सेल ने भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट हैक करने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। वेबसाइट में घुसपैठ कर आरोपी ने 10 हजार के करीब वोटर आईडी जनरेट की है। मध्यप्रदेश में रहने वाले अरमान मलिक आरोपी के साथ मिला हुआ है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। दिल्ली जांच एजेंसियों को भी सूचना दे दी गई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*