Memorandum submitted to free the National Desert Park from land mafia | राष्ट्रीय मरु उद्यान को भूमाफियों से मुक्त कराने को सौंपा ज्ञापन, बोले कार्रवाई नहीं होने से भू माफियाओं के हौसले बुलंद हैं


जैसलमेरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
राष्ट्रीय मरु उद्यान में तारब - Dainik Bhaskar

राष्ट्रीय मरु उद्यान में तारब

जैसलमेर जिले में अवैध बजरी खनन करने वालों पर कार्रवाई करने को लेकर ग्राम पंचायत तेजरावा के राजस्व ग्राम सिंहड़ार के घनश्याम सिंह के नेतृत्व में ग्रामवासियों ने उप वन संरक्षक, वन्यजीव जैसलमर को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया गया कि वन विभाग की रेंज म्याजलार के अंतर्गत आने वाले राष्ट्रीय मरु उद्यान की सीमा पर वन विभाग द्वारा पिलर लगा सीमांकन किया गया था, जिस पर ग्राम सिंहड़ार के चंद लोगों द्वारा पिलर हटाकर 300 से 400 फ़ीट तक पिलर को अन्यत्र लगाया गया है। जिससे मरु उधान की भूमि में बड़ा परिवर्तन हो गया है।

मरु उधान की भूमि पर पिछले कई सालों से ये लोग अवैध काश्त कर अवैध कब्जा किये हुए हैं। ग्रामीणों की मांग है कि उक्त भूमि के पिलर को यथास्थान स्थापित कर अवैध कब्जा हटाएं तथा दोषियों पर कठोर कार्यवाही करवाएं। इसी के साथ ज्ञापन में बताया गया कि भूमाफियों द्वारा ग्राम सिंहड़ार गांव के दक्षिण रेंज बाड़मेर से लगती मरु उद्यान की सीमा पर भी पिछले कई सालों से अवैध काश्त की जा रही है।

वहीं ग्राम सिंहड़ार के उत्तर दिशा में इन्ही लोगों के द्वारा मरु उधान की भूमि पर अवैध बजरी खनन कर बेचा जा रहा है तथा अवैध वसूली की जा रही है। इस बारे में पहले भी विभाग को सूचना दी गयी थी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*