The girl’s father and brother, who used to love a youth of another caste, hanged her. | जाल की ऊंचाई से खुला राज; दूसरी जाति के युवक से प्रेम करती थी छात्रा पिता और भाई ने फांसी पर लटका दिया


ग्वालियर18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दूसरी जाति के युवक से प्रेम करने की कीमत एक युवती को अपनी जान देकर चुकाना पड़ी। युवती के परिवार वालों ने ही उसकी जान ले ली, बेरहमी से उसे मार डाला और उसकी मौत को आत्महत्या बताकर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। युवती के गले में जबरन साड़ी का फंदा बांधकर उसे घर के आंगन में लगे जाल से लटका दिया। तड़प-तड़प कर युवती ने दम तोड़ दिया। लेकिन जाल की ऊंचाई ने युवती की हत्या का रोज खोल दिया।

जब परिजनों से पूछताछ की तो रोते हुए पूरा राज उगल दिया और बोले- बदनामी के डर से हमने ही उसे मार डाला। रिश्तों के कत्ल की यह दिल दहला देने वाली घटना जनकगंज इलाके की है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी हत्या का खुलासा होने के बाद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया।

जनकगंज स्थित जनकपुरी के रहने वाले राजेंद्र सिंह राठौर की बेटी राखी(20) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। 1-2 जुलाई की रात उसकी लाश घर के आंगन में जाल से फांसी के फंदे से लटकी मिली थी। जनकगंज थाना प्रभारी संजीव नयन शर्मा ने बताया कि फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉ.अखिलेश भार्गव और फिंगरप्रिंट टीम को जांच के लिए बुलवाया। जब ऊंचाई नापी गई तो यह 10 फीट 6 इंच निकली। यहां तक पहुंचने के लिए सीढ़ी भी नहीं थी। बस यहीं से संदेह हुआ।

इसके बाद सामने आया कि युवती घर से लापता हो गई थी। 31 जुलाई को ही वह लौटकर आई। पूछताछ में सामने आया कि वह दूसरी जाति के युवक से प्रेम करती थी। परिजन सजातीय युवक से शादी का दबाव बना रहे थे। इसे लेकर विवाद हुआ। पुलिस को शुरू से ही घर के दो सदस्यों पर शक था। यह दोनों गायब थे। धीरे-धीरे परिजनों के बयान लिए गए। पल-पल बदलते बयान से पुलिस को कई सुराग मिले। बीते रोज पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई, जिसमें हत्या की पुष्टि हुई।

इसके बाद पिता राजेंद्र और भाई जितेंद्र से पूछताछ की गई। पूछताछ में इन दोनों ने हत्या करना स्वीकार किया। इसमें युवती का ताऊ राधेश्याम और ताऊ के बेटे मानू व मनोज भी शामिल थे। पूछताछ में राजेंद्र व जितेंद्र ने बताया कि युवती सजातीय युवक से शादी के लिए तैयार नहीं थी, इसलिए उसके गले में साड़ी का फंदा बांधा। फंदे का एक छोर छत से नीचे जाल में डाला और उसे फंदे पर लटका दिया। वह मर गई तो कुछ घंटे बाद पुलिस को सूचना दे दी। जनकगंज थाना प्रभारी शर्मा ने बताया कि तीन आरोपी अभी फरार हैं, इनकी तलाश चल रही है।

ताऊ के बेटे हत्या करने के बाद कैलारस पहुंचे, खुद पर केस दर्ज कराने की तैयारी कर ली, जिससे संदेह में न आएं
हत्या में शामिल युवती के ताऊ के बेटे घटना के बाद भागकर कैलारस पहुंच गए। यहां अपने खिलाफ अपने बहनोई से थाने में शिकायत कराई, जिससे दोनों संदेह के घेरे में न आएं। लेकिन पुलिस को घटना कुछ संदिग्ध लगी, इसलिए उन पर एफआईआर नहीं हुई। फिर दोनों वहां से भी फरार हो गए।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*