Four arrested for supporting dacoits, including brother of master mind Narendra Lala, gold and cash recovered, main accused still out of reach of police | मास्टर माइंड नरेंद्र लाला के भाई समेत डकैतों का साथ देने वाले चार गिरफ्तार , सोना और नकदी बरामद , मुख्य आरोपी अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Four Arrested For Supporting Dacoits, Including Brother Of Master Mind Narendra Lala, Gold And Cash Recovered, Main Accused Still Out Of Reach Of Police

आगराएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
आगरा के कमलानगर थाना क्षेत्र में मणप्पुरम फाइनेंस कम्पनी के आफिस में डकैती के चार आरोपी गिरफ्तार हुए - Dainik Bhaskar

आगरा के कमलानगर थाना क्षेत्र में मणप्पुरम फाइनेंस कम्पनी के आफिस में डकैती के चार आरोपी गिरफ्तार हुए

आगरा के थाना कमलानगर क्षेत्र में बीती 17 जुलाई को मणप्पुरम फाइनेंस लिमिटेड के ऑफिस में 19 किलो सोना और 5 लाख रुपये का डाका डालने वाले अपराधियों के मददगारों पर शिकंजा कसता जा रहा है। आज थाना पुलिस ने मास्टरमाइंड नरेंद्र उर्फ़ लाला के भाई समेत चार मददगारों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। इनके पास से 89 ग्राम सोना और 40 हजार की नकदी बरामद हुई है।

नरेंद्र लाला का भाई भी आया पकड़ में

एसएसपी मुनिराज के अनुसार थाना कमलानगर पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर डकैती के मास्टरमाइंड नरेंद्र लाला के भाई देवेंद्र यादव और उसके दोस्त दीपू को कुबेरपुर के पास गिरफ्तार किया। उनकी जानकारी पर फिरोजाबाद के दो सुनार मनोज और सचिन को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से 89 ग्राम सोने के आभूषण और 40 हजार नकद बरामद हुए हैं। सभी पर धारा 412 के तहत कार्यवाही की गई है।

अब तक 15 पर कार्यवाही, नरेंद्र उर्फ लाला पहुंच से बाहर

बता दें कि डकैती के बाद पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए मनीष व निर्दोष को मुठभेड़ में मार गिराया था और उनके पास से 7.5 किलो सोना और आभूषण बरामद किए थे। इसके बाद 21 जुलाई को डर के कारण आरोपी प्रभात ने थाने में समर्पण किया था। 23 जुलाई को पुलिस ने संतोष जाटव को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लगभग 1 किलो सोने के आभूषण बरामद किए थे। 27 जुलाई को अंशु सोलंकी, अंशु यादव उर्फ ध्रुव (सहयोगी) संजय शर्मा (सहयोगी) को गिरफ्तार किया था। 2 अगस्त को पुलिस ने इनामी रेनू पंडित को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। 3 अगस्त को सुनीता और राजा को गिरफ्तार किया गया। 4 अगस्त को अवकाश मिश्रा और अश्वनी मिश्रा को गिरफ्तार किया गया।10 अगस्त को देर रात देवेंद्र यादव, दीपू, मनोज और सचिन को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। घटना का मास्टरमाइंड एक लाख का इनामी नरेंद्र उर्फ लाला अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस को आशंका है कि वो प्रदेश के बाहर किसी साथी के पास जाकर अंडरग्राउंड हो गया है। पुलिस लगातार आरोपी की तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*