dirty water of houses going into city tank | लोगों ने कहां समस्या सालों से लेकिन समाधान के लिए जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यान


पाली।9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
तालाब किनारे गौशाला के मवेशी विचरण करते हुए। - Dainik Bhaskar

तालाब किनारे गौशाला के मवेशी विचरण करते हुए।

शहर का सिटी टैंक में सालों से गंदा पानी मिल रहा हैं। समस्या सालों से हैं लेकिन समाधान को लेकर पीएचईडी, नगर परिषद ध्यान नहीं दे रही। नतीजन समस्या आज भी नासूर बनी हुई हैं। जिसका नुकसान शहरवासियों को उठाना पड़ रहा हैं।

घरों का गंदा पानी जा रहा लाखोटिया तालाब में।

घरों का गंदा पानी जा रहा लाखोटिया तालाब में।

शहर के लाखोटिया तालाब के किनारे कई आवासीय मकान बने हुए हैं। जिनकी ऊंचाई तालाब से करीब 30-40 फीट ऊपर हैं। ऐसे में इन घरों का गंदा पानी लाखोटिया तालाब में ही सालों से प्रवाहित हो रहा हैं। शहर भर में सीवर लाइन बिछाई जा रही हैं लेकिन इन घरों के गंदे पानी की निकासी को सीवरेज से जोड़ने की कोई योजना अभी तक नहीं बनी हैं। ऐसे में सवाल उठता हैं कि आगे भी लाखोटिया तालाब में ही नइ घरों का गंदा पानी प्रवाहित होता रहेगा।

घरों के गंदे पानी की निकासी सीधे तालाब में।

घरों के गंदे पानी की निकासी सीधे तालाब में।

खोल दी गौशाला
तालाब किनारे सावर्जनिक जमीन पर गौशाला खोल दी गई हैं। जहां एक-दो नहीं आठ-दस गायें रखी हुई हैं। इन मवेशियों के मल-मूत्र भी तालाब में हो रहा हैं। आस-पास रहने वाले लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। कई बार लोग बोल भी चुके हैं लेकिन समस्या समाधान को लेकर होता कुछ नहीं हैं।

कई बार की शिकायत
क्षेत्र के बाबूलाल बोराणा ने बताया कि लाखोटिया तालाब के किनारे बने मकानों में रहने वाले परिवारों के घरों से निकलने वाले गंदे पानी की निकासी तालाब में दे रखी हैं। ऐसे में शहरवासियों के पीने के काम आने वाला पानी गंदा हो रहा हैं। कई बार प्रशासन को अवगत करवाया लेकिन कुछ नहीं हुआ।

गौशाला का मल-मूत्र कहां जा रहा कोई देखने वाला नहीं
तालाब किनारे गौशाला बना दी। मवेशियों का मल-मूत्र निकासी की कोई व्यवस्था नहीं हैं। क्योंकि तालाब से काफी ऊंचाई पर गौशाला बनाई हुई हैं। ऐसे में वहां की गंदगी भी तालाब परिसर में मिल रही हैं। जिसके समाधान को लेकर स्थानीय प्रशासन कार्रवाई करनी चाहिए।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*