15.45 lakh doses are needed to vaccinate the entire population of Kota | कोटा की पूरी आबादी का टीकाकरण करने के लिए चाहिए 15.45 लाख डोज


कोटाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
मौजूदा रफ्तार से 3 माह में भी टीकाकरण संभव नहीं। - Dainik Bhaskar

मौजूदा रफ्तार से 3 माह में भी टीकाकरण संभव नहीं।

कोविड की तीसरी लहर से बचने के लिए एक्सपर्ट वैक्सीनेशन पर खासा जोर दे रहे हैं। लेकिन कोटा में आज भी वैक्सीनेशन की जो रफ्तार है, उस हिसाब से अगले तीन माह तक भी किसी हाल में पूरी आबादी कवर होती नहीं दिख रही। जिले में अभी भी 5.13 लाख लोग पहली डोज से वंचित हैं, जबकि 10.32 लाख लोगों को दूसरी डोज लगनी है।

यानी कोटा की 18 प्लस की आबादी को कवर करने के लिए 15.45 लाख डोज की जरूरत है। जअब रोजाना 10 हजार डोज भी मिले, तब भी तीन माह में करीब 9 लाख डोज ही मिलेगी, इसके बाद भी 6 लाख डोज की जरूरत रहेगी। हालांकि अधिकारी कहते हैं कि सितंबर के बाद से वैक्सीन का उत्पादन बढ़ेगा और उस हिसाब से सप्लाई भी बढ़ेगी।

8.23 लाख को पहली, 3.03 लाख को लग चुकी दोनों डोज

भास्कर ने टीकाकरण की रिपोर्ट खंगाली तो पता चला कि जिले में 8.23 लाख लोगों को पहली डोज और 3.03 लाख लोगों को दूसरी डोज लग चुकी है। यानी 61.60 प्रतिशत लोग पहली और 22.73 प्रतिशत लोग दूसरी डोज ले चुके हैं। जिले में 18 प्लस की आबादी 13.36 लाख है, ऐसे में 5.13 लाख पहली और 10.32 लाख लोग दूसरी डोज के लिए बचे हुए हैं।

जिले में आए दिन वैक्सीन की कमी से कोविड टीकाकरण बंद करना पड़ रहा है। जिले में मंगलवार को भी कुछेक ग्रामीण साइट्स पर टीके लगे। शहर में किसी साइट पर टीका नहीं लग सका। चिकित्सा विभाग के अधिकारी कहते हैं कि यदि रेगुलर वैक्सीन की सप्लाई मिलती रहे तो दो माह में पूरी आबादी को कवर किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए पहले टीका उपलब्ध हो।

बदले हालात : टीकाकरण के लिए उमड़ रही भीड़, लेकिन टीकों की कमी

शुरुआत में लोग बुलाने पर भी टीका लगवाने नहीं आ रहे थे, लेकिन अब हालात बदल चुके हैं। किसी साइट पर 100 डोज पहुंचती है तो वहां 500 लोगों की कतार लग जाती है। स्थितियां ऐसी है कि दूसरी डोज कई लोगों की ड्यू हो गई और वे लंबे समय तक यहां-वहां भटकते रहे। बाद में जब प्रशासन ने पहली डोज बंद करके सेकंड डोज ही लगाना शुरू किया जब जाकर ये लोग कवर हो पाए।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*