SDM office arrived with tractor rally, handed over the chubby, said diesel is expensive, we should not do farming, there was a demonstration regarding the problem of moong purchase and delay in payment | ट्रैक्टर रैली लेकर पहुंचे एसडीएम ऑफिस, चाबी सौंपकर बोले- डीजल इतना महंगा है, नहीं करनी खेती; मूंग खरीदी की समस्या और भुगतान में देरी को लेकर प्रदर्शन


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • SDM Office Arrived With Tractor Rally, Handed Over The Chubby, Said Diesel Is Expensive, We Should Not Do Farming, There Was A Demonstration Regarding The Problem Of Moong Purchase And Delay In Payment

होशंगाबाद11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
किसानों ने बारिश में ट्रैक्टर रैली निकाली। - Dainik Bhaskar

किसानों ने बारिश में ट्रैक्टर रैली निकाली।

होशंगाबाद के सिवनी-मालवा में मंगलवार को डीजल के बढ़ते दाम, मूंग खरीदी की समस्याओं को लेकर किसानों ने सड़कों पर उतर विरोध जताया। भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में किसानों ने ट्रैक्टर रैली लेकर एसडीएम कार्यालय पहुंचे। किसानों ने एसडीएम को चाबी सौंपकर कह-ा- डीजल के दाम तेजी से बढ़ रहे। जो हमारी कमर तोड़ रहे। ऐसे हमें खेती नहीं करनी।

तहसील स्तरी धरना, आंदोलन में प्रांत, जिला कार्यकारिणी के पदाधिकारी भी शामिल हुए। करीब तीन घंटे किसानों का धरना प्रदर्शन व ट्रैक्टर रैली का घटनाक्रम चला। तवा कॉलोनी में पहले धरना दिया गया। बाद में सभी ट्रैक्टर रैली से एसडीएम कार्यालय पहुंचे। शाम 5 बजे समापन हुआ। भाकिसं ने चेतावनी दी कि केंद्र व राज्य सरकार किसानों के मांगों का जल्द निराकरण करेंगी तो गांव-गांव में किसानों द्वारा सरकार में बैठे सक्षम नेतृत्व का पुतला दहन किया जाएगा। आगामी लोकसभा, विधानसभा चुनाव में नेताओं का गांव-गांव प्रवेश बंद करते हुए चुनाव का बहिष्कार होगा। प्रांत कार्यकारिणी जगदीश पाटिल, संभाग मंत्री सूरजवली जाट, जिला मंत्री संतोष पटवारे, तहसील अध्यक्ष शंकर सिंह पटेल, रामेश्वर जाट, जिला उपाध्यक्ष मोर सिंह राजपूत, इटारसी तहसील अध्यक्ष श्रीराम दुबे, संजय लौवंशी, जिला प्रवक्ता रजत दुबे, नितेश सहित बड़ी संख्या में भारतीय किसान संघ के पदाधिकारी व किसान मौजूद रहे।

किसानों ने ट्रैक्टर की चाबियां एसडीएम को सौंपी।

किसानों ने ट्रैक्टर की चाबियां एसडीएम को सौंपी।

इन मांगों को लेकर हुआ प्रदर्शन

  • -मूंग उपार्जन का कार्य अत्यंत धीमी गति से किया जा रहा है, वर्तमान व्यवस्था से किसान समाज आक्रोशित है। SMS की संख्या प्रत्येक केन्द्र पर प्रतिदिन 100-100 की जाएं। जिसमें लघु और सीमांत किसान को 50-50-SMS भेजे जाएं।
  • – उपार्जन के 3 दिवस में मूंग का भुगतान कराया जाएं।
  • – मूंग उपार्जन पोर्टल बंद होने से पूर्व जो SMS किए गए थे, जिसके तुरंत बाद पोर्टल बंद कर दिया गया था ऐसे किसानों को दोबारा SMS भेजें।
  • -खरीफ फसल क्षतिपूर्ति बीमा राशि 2019 तकनीकी रूप से गड़बड़ी होने से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पोर्टल पर दर्ज होने से वंचित किसानों के नाम दोबारा दर्ज हो।
  • – खरीफ फसल 2020 फसल क्षतिपूर्ति बीमा राशि किसानों के ऋण खातों में ब्याज रुप में जमा कराई जाएं।
  • – प्रदेश सरकार द्वारा खरीफ फसल 2020 की राहत राशि की तीसरी अंतिम किस्त 34 फीसदी राशि का भुगतान शीघ्र हो।
  • -कृषि कार्य हेतु 50 लीटर प्रति हेक्टेयर परमिट बनाकर प्रति वर्ष किसानों को दिया जाएं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*