Petition was filed in the High Court, in the demand of the girl student, she kept doing physical abuse for three years by filling vermilion, now a reward of 5 thousand has also been announced | हाईकोर्ट में लगाई थी याचिका, छात्रा की मांग में सिंदूर भरकर तीन साल तक करता रहा शारीरिक शोषण, अब 5 हजार का इनाम भी घोषित


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Petition Was Filed In The High Court, In The Demand Of The Girl Student, She Kept Doing Physical Abuse For Three Years By Filling Vermilion, Now A Reward Of 5 Thousand Has Also Been Announced

जबलपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
चश्मे में दिख रहे शुभांग गोटिया की अग्रिम जमानत खारिज, गिरफ्तारी पर 5 हजार का इनाम घोषित। - Dainik Bhaskar

चश्मे में दिख रहे शुभांग गोटिया की अग्रिम जमानत खारिज, गिरफ्तारी पर 5 हजार का इनाम घोषित।

छात्रा की मांग में सिंदूर भरकर तीन साल तक शारीरिक शोषण करने वाला अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का पूर्व महानगर मंत्री शुभांग गोटियां की अग्रिम जमानत हाईकोर्ट ने भी खारिज कर दिया। जस्टिस अरुण कुमार शर्मा की कोर्ट ने अग्रिम जमानत खारिज करते हुए कहा कि आरोपी के आचरण को देखते हुए यदि उसे जमानत दी जाती है तो पीड़िता को मानसिक यातना और कठिनाई का सामना करना पड़ेगा। समाज में भी गलत संदेश जाएगा।

आरोपी शुभांग गोटियां के ओर से हाईकोर्ट में अधिवक्ता के माध्यम से तर्क पेश किया गया कि वह निर्दोष है। शिकायतकर्ता और उसके बीच आपसी सहमति के आधार पर संबंध बने थे। आरोप लगाया कि शिकायतकर्ता के पिता उसके परिवार से पैसे वसूल करना चाहते हैं। उसने विवाह करने का वादा नहीं किया था। वह छात्र है और गिरफ्तार होने पर उसका भविष्य खराब होगा।

MP में ABVP नेता पर रेप का केस:मांग में सिंदूर भरकर कहा- तुम मेरी पत्नी हो, 3 साल शारीरिक शोषण किया, फिर बोला- वो तो ढोंग था

छात्रा की ओर से अधिवक्ता नवीन शुक्ला ने अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया। तर्क रखा कि आरोपी ने शादी के झूठे बहाने से पीड़िता के साथ बार-बार रेप किया और उसकी मांग में सिंदूर लगाकर उसकी भावनाओं से भी खेला। आरोपी और उसके परिवार के लोगों ने पीड़ता की मर्जी के बगैर अपने प्रभाव से उसका गर्भपात भी करा दिया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद जस्टिस अरुण कुमार शर्मा की कोर्ट ने अग्रिम जमानत खारिज कर दी।

आरोपी की गिरफ्तारी पर 5 हजार का इनाम

उधर, महिला थाने के प्रतिवेदन पर एसपी ने आरोपी शुभांग गोटिया की गिरफ्तारी पर पांच हजार का इनाम घोषित किया है। आरोपी 21 जून को एफआईआर दर्ज होने के बाद से ही फरार चल रहा है। तब से आरोपी अलग-अलग कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका लगा चुका है। पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि आरोपी की ओर से लगातार धमकी दी जा रही है। टीआई शबाना परवेज के मुताबिक आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उसके पैतृक मकान झलौन बेलखेड़ा, राइट टाउन स्थित निवास और पिता प्रदीप गोटियां की एमएच रेसीडेंसी लक्ष्मीपुर समेत कई संभावित स्थानों पर दबिश दी गई, लेकिन वह नहीं मिला।

आरोपी के खिलाफ 21 जून को महिला थाने में पीड़िता ने दर्ज कराई थी एफआईआर।

आरोपी के खिलाफ 21 जून को महिला थाने में पीड़िता ने दर्ज कराई थी एफआईआर।

ये था मामला
महिला थाने में सोमवार 21 जून को पिता के साथ पहुंची जबलपुर निवासी 23 वर्षीय छात्रा ने शुभांग के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया था। 2018 में केंट स्थित एक कॉलेज में पढ़ाई के दौरान उनकी मुलाकात एबीवीपी की मेंबर शिप के दौरान हुई थी। राइट टाउन निवासी 25 वर्षीय शुभांग गोटिया उस समय अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का महानगर मंत्री था। उसने छात्र को प्यार के झांसे में फंसाया और फिर एक दिन उसकी मांग में सिंदूर भरते हुए बोला कि अब वे पति-पत्नी हैं, और तीन साल तक उसका शारीरिक शोषण करता रहा। जनवरी में शादी से मुकर गया, बोला -कि वो तो शादी का ढोंग किया था।

भाजयुमो अध्यक्ष बनना चाहता था रेपिस्ट:छात्रा की मांग में सिंदूर भरकर तीन साल तक रेप करने वाला आरोपी शुभांग फरार, घर में लगा ताला, कई जगह दबिश जारी

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*